PM vishwakarma yojana news in hindi: प्रधानमंत्री विश्वकर्मा योजना के पहले स्टेप में 521 आवेदनों का हुआ अनुमोदन

WhatsApp Group Join Now
Telegram Group Join Now

प्रधानमंत्री विश्वकर्मा योजना के पहले स्टेप में 521 आवेदनों का हुआ अनुमोदन, ये है PM vishwakarma yojana latest news. जानने के लिए इस आर्टिकल को पूरा पढ़े और हमने इसके साथ बाकि जानकारी भी प्रदान किया है।

PM vishwakarma yojana news in hindi

प्रधानमंत्री विश्वकर्मा योजना के पहले चरण में, मंडी जिले में 521 आवेदनों को मंजूरी मिली है। विश्वकर्मा पोर्टल पर प्राप्त हुए आवेदनों में, 521 मामलों में गाँव स्तरीय समितियों के माध्यम से प्रमाणीकरण रिपोर्ट प्राप्त हुई है। जो राज्य स्तरीय समिति को भेजी गई हैं। इस योजना के तहत, जिले के पारंपरिक कलाकारों और शिल्पकलाकारों को प्रमाणपत्र और पहचान पत्र प्रदान किए जाएंगे।

जागरण संवाददाता, मंडी। प्रधानमंत्री विश्वकर्मा योजना के पहले चरण में, मंडी जिले में 521 आवेदनों को मंजूरी मिली है। जिला स्तरीय समिति के मंजूर होने के बाद, इसे राज्य स्तरीय समिति को मंजूरी के लिए भेजा गया है। इस योजना के कार्यान्वयन के लिए बनाई गई जिला स्तरीय समिति की पहली बैठक के बाद, यह जानकारी जिले के उपायुक्त अरिंदम चौधरी ने दी।

प्रधानमंत्री विश्वकर्मा योजना की जानकारी

प्रधानमंत्री विश्वकर्मा योजना के पहले स्टेप में 521 आवेदनों का हुआ अनुमोदन

उन्होंने कहा कि पीएम विश्वकर्मा पोर्टल पर प्राप्त आवेदनों में से 521 मामलों में गाँव स्तरीय समितियों के माध्यम से प्रमाणीकरण रिपोर्ट्स प्राप्त हुई हैं। जो कि राज्य स्तरीय समिति को भेजी गई हैं। इस योजना के तहत, जिले के पारंपरिक शिल्पकला और कला करिगरों को प्रमाणपत्र और पहचान पत्र प्रदान किए जाएंगे। इस योजना में शामिल होकर, कलाकार अपने व्यापार को बढ़ावा देने, उपकरणों में निवेश करने, और अपनी कला को सुधारने की क्षमता प्राप्त करेंगे। जिला उद्योग केंद्र के जनरल मैनेजर ओ.पी. जरियाल, योजना के क्षेत्र के विशेषज्ञ, करसोग के पूर्व विधायक हीरा लाल, कपूर चंद, और महेंद्रा सैनी, पीएनबी के लीड बैंक प्रबंधक एस.के. धीमान, मंडी के जिला उद्योग केंद्र के प्रबंधक संतोष जमवाल भी बैठे थे।

PM vishwakarma yojana news in hindi: प्रधानमंत्री विश्वकर्मा योजना के पहले स्टेप में 521 आवेदनों का हुआ अनुमोदन

योजना में शामिल हैं 18 व्यवसाय

जिला उद्योग केंद्र के महाप्रबंधक ओ.पी. जरियाल ने बताया कि इस योजना के अंतर्गत 18 पारंपरिक व्यापारों को शामिल किया गया है। इनमें पत्थर तोड़ने और नक्काशी, लोहार, सुनार, कुम्हार, मोची, मिस्त्री, धोबी, दर्जी, नाई आदि जैसे व्यापार शामिल हैं। इसमें, उन्हें पांच प्रतिशत की शुद्धि दर के साथ एक लाख रुपये (पहली किस्त) और दो लाख रुपये (दूसरी किस्त) तक के ऋण देने का प्रावधान है। इस योजना के लाभ प्राप्त करने के लिए आवेदक को पीएम विश्वकर्मा पोर्टल पर आवेदन करना होगा। इस योजना में, ऋण के साथ-साथ, कौशल उन्नति, टूलकिट प्रचार-प्रसार, और डिजिटल लेन-देन प्रचार-प्रसार और विपणि में भी सहायता प्रदान की जाएगी।

Bharat Sarkar suvidha Home pageClick here
Join Our Telegram Channel.Click here
Bharat sarkar Suvidha Official Whatsapp ChannelClick here
जानिए अन्य सरकारी योजनाओं के बारे मेंClick here
अगर आप कम पैसे में बिजनेस शुरू करने के बारे में जानना चाहते हैंClick here
 latest newsClick here
 Join our Facebook pageClick here
Join our whats app groupClick here

Leave a Comment